गिरवाई क्षेत्र में आठ माह पूर्व आत्महत्या करने वाले एसएएफ के आरक्षक सतेंद्र सिंह ताेमर की खुदकुशी के मामले में पुलिस ने एसएएफ के ही दो आरक्षकों हरेंद्र चंदेल और सर्वेश राठौर के खिलाफ खुदकुशी के लिए प्रेरित करने का मामला दर्ज किया गया है। सतेंद्र ने फांसी लगाकर खुदकुशी की थी। सतेंद्र ने दाेनाें से दो लाख रुपए उधार दिए लिए थे। इस पर 20 फीसदी की दर से ब्याज की वसूली के लिए साथी आरक्षकों ने उसके स्कूटर काे छीन लिया था। इससे परेशान होकर उसने आत्महत्या कर ली थी।

गिरवाई प्रभारी संतोष सिंह यादव ने बताया कि सिकंदर कंपू में मस्जिद वाली गली में रहने वाले एसएएफ के आरक्षक सतेंद्र सिंह पुत्र बृजराज सिंह तोमर ने गत 12 फरवरी को फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली थी। जांच में पता चला कि उधार दिए रुपए वसूलने के लिए उसे दो साथी आरक्षक परेशान कर रहे थेे। आरक्षक द्वारा खुदकुशी किए जाने से कुछ दिन पूर्व ही आरोपियों ने उसका स्कूटर छीन कर अपमानित किया था। इस कारण उसने खुदकुशी कर ली। जांच के बाद पुलिस ने आरोपी आरक्षक हरेंद्र चंदेल सर्वेश राठौर के खिलाफ खुदकुशी के लिए प्रेरित करने का मामला दर्ज कर लिया है।