Sunday, 16 December 2018, 8:50 AM

धर्म एवं ज्योतिष

नवरात्रों में घर लें आए ये खास चीज, साल भर बनी रहेगी मां की कृपा

Updated on 12 October, 2018, 10:41
शारदीय नवरात्र चल रही है और इस दौरान लोग मां दुर्गा की कृपा पाने के लिए कई उपाय करते है। ग्रंथों में कुछ ऐसे उपाय बताए गए है जिससे मां दुर्गा को जल्द प्रसन्न किया जा सकता है। नवरात्रि में इनमें से कोई भी एक सामान नवरात्रि के शुभ मुहूर्त में... आगे पढ़े

क्यों करनी चाहिए नवरात्र में कपूर से आरती

Updated on 12 October, 2018, 6:40
10 अक्टूबर से नवरात्र शुरू हो गए हैं। नौ दिनों तक हर तरफ भक्ति का ही माहौल रहेगा और नवदुर्गा का गुणगान होगा। मां दुर्गा के नौ रूपों की पूजा के साथ इस पर्व का जश्न मनाया जाएगा। सनातन धर्म में किसी भी पूजा के बाद आरती करने का विधान... आगे पढ़े

चन्द्रघंटा देवी का स्वरूप तपे हुए स्वर्ण के समान कांतिमय

Updated on 12 October, 2018, 6:20
पिण्डजप्रवरारूढ़ा चण्डकोपास्त्रकै र्युता। प्रसादं तनुते मह्यं चन्द्रघण्टेति विश्रुता।। यह देवी चन्द्रघंटा का ध्यान मंत्र है। दुर्गा पूजा के तीसरे दिन आदिशक्ति दुर्गा के तीसरे रूप की पूजा होती है। मां का तीसरा रूप चन्द्रघंटा का है। देवी चन्द्रघण्टा भक्त को सभी प्रकार की बाधाओं एवं संकटों से उबारने वाली हैं। इस... आगे पढ़े

चौबीस मातृकाओं में से एक है देवी गढ़कालिका

Updated on 11 October, 2018, 15:45
युगों-युगों से माता धरती पर अवतरित होकर दुष्टों का संहार और अपने भक्तों का उद्धार करती रही है। मां को भक्ति के अनेक रूपों से प्रसन्न किया जाता है। मां के रूप अलग-अलग होते हैं, लेकिन उनके वरदान हमेशा भक्तों के कल्याण के लिए होते हैं। माता धरती पर कई... आगे पढ़े

माता के इस दरबार में हवन का है विशेष महत्व, शत्रुबाधा का होता है नाश

Updated on 11 October, 2018, 15:30
 माता का धरती पर अवतरण अपने भक्तों के दुखों के हरण के लिए हुआ है। देवी कई रूपों और स्वरूपों में प्रगट होकर अपने भक्तों का उद्धार करती है। मां भक्तों के आराधना, भक्ति और सिद्धी के लिए पृथ्वीलोक में कई जगहों पर विराजमान है। जिनमें पहाड़ों से लेकर गुफा... आगे पढ़े

कन्या को देवी के नौ रूपों में मानकर नवरात्र में की जाती है पूजा

Updated on 11 October, 2018, 15:15
 नवरात्र में कन्या पूजन का खास महत्व है। कन्या को देवी का स्वरूप मानकर उनकी पूजा की जाती है। मान्यता है नवरात्र के अवसर पर कन्या पूजन करने से सुख, शांति और समृद्धि का वरदान मिलता है। कुमारी : दो वर्ष की कन्या को कुमारी कहा जाता है। दुख और दरिद्रता... आगे पढ़े

क्यों है रात्रि साधना के लिए नवरात्र श्रेष्ठ

Updated on 11 October, 2018, 14:44
माता के सभी 51 पीठों पर नवरात्र के दौरान भक्त विशेष रूप से माता के दर्शनों के लिए एकत्रित होते हैं। जिनके लिए वहां जाना संभव नहीं होता है, वह अपने निवास के निकट ही माता के मंदिर में दर्शन कर लेते हैं। नवरात्र शब्द, नव अहोरात्रों का बोध करता... आगे पढ़े

श्री हेमकुंड साहिब के कपाट शीतकाल के लिए बंद, अब अगले साल होंगे दर्शन

Updated on 11 October, 2018, 9:15
सिखों के प्रसिद्ध तीर्थस्थल श्री हेमकुंड साहिब के कपाट बुधवार 10 अक्टूबर को परम्परागत पूजा अर्चना के साथ शीतकाल के लिए बन्द कर दिए गए। इस मौके पर गुरुद्वारा प्रबन्धन के अलावा सैकड़ों तीर्थयात्रियों ने इस साल की अन्तिम अरदास में हिस्सा लिया। दोपहर डेढ़ बजे परम्परागत पूजा पाठ के... आगे पढ़े

नवरात्र का दूसरा दिन, ऐसे करें मां चंद्रघंटा की पूजा

Updated on 11 October, 2018, 8:50
(Navratri 2018 Chandraghanta Puja) 11 अक्टूबर गुरुवार को तीसरा नवरात्र मनाया जाएगा. देवगुरु ग्रह भी 11 अक्टूबर शाम को तुला से मित्र राशि वृष्च्छिक में जा रहे है. नवरात्रि के दूसरे दिन शुभ संयोग बन रहा है. तीसरे दिन मां दुर्गा के शेरावाली माता या चंद्रघंटा रूप की पूजा की जाती... आगे पढ़े

अगर आप भी सुबह-शाम करते हैं ये 7 काम, तो देवी लक्ष्मी होने वाली है नाराज़

Updated on 11 October, 2018, 6:40
शास्त्रों की मानें तो हर काम को समय की मर्यादा में करने से भगवान की कृपा प्राप्त होता है। इतना ही नहीं बल्कि इससे इंसान की आर्थिक स्थिति भी मज़बूत हो जाती है। हिंदू धर्म में कुछ काम ऐसे बताए गए हैं, जिन्हें भूलकर भी सुबह और शाम नहीं करना... आगे पढ़े

जानें क्यों करते हैं नवरात्र और शक्ति की उपासना क्या हैं इसके लाभ

Updated on 11 October, 2018, 6:20
नवरात्रि में हम सब भक्ति भाव से युक्त होकर मां जगदंबा की आराधना करते हैं। इस पूजा का उद्देश्य क्या है? जीवन का उद्देश्य उर्ध्वगमन करना, लक्ष्यों को सिद्ध करना, सम्मान से युक्त होना, बाधाओं पर विजय प्राप्त करना है। पर, सफलता एवं धन प्राप्ति मन को शुष्क न कर... आगे पढ़े

शुरू हुए नवरात्र, पहले दिन होगी दो देवियों की एक साथ पूजा

Updated on 10 October, 2018, 9:06
नवरात्रि (Navratri 2018) का खास पर्व शुरू हो गया है. भक्तजन नौ दिनों तक पूजा कर मां दुर्गा की कृपा प्राप्त करेंगे. शरद ऋतु में आने वाले आश्विन मास के नवरात्र को शारदीय नवरात्र भी कहा जाता है. साल में चार नवरात्र होते हैं, जिनमें से दो गुप्त नवरात्र होते हैं.... आगे पढ़े

नवरात्र में मां को खुश करने के लिए फॉलो करें ये वास्तु टिप्स

Updated on 10 October, 2018, 7:00
10 अक्टूबर 2018 यानि कल से शारदीय नवरात्र आरंभ हो रहे हैं। पौराणिक मान्यातओं के अनुसार नवरात्र के पूरे नौ दिन मां दुर्गा की पूजा की जाती है और व्रत रखे जाते हैं। हिंदू धर्म में इस पर्व का खास महत्व है। पूरे भारत में ये 9 दिन हर जगह... आगे पढ़े

वातावरण को उमंग और उल्‍लास से भर देने का पर्व है नवरात्र

Updated on 10 October, 2018, 6:40
वर्ष में दो अवसर नवरात्रि के ऐसे हैं जिन्हें आध्यात्मिक पर्व कहा जाता है और जिनमें साधना, तपश्चर्या की प्रमुखता रहती है। आश्विन और चैत्र के शुक्ल पक्ष में प्रतिपदा से नवमी तक नौ-नौ दिन के यह पर्व आते हैं। इनमें यूं तो कई लोग अपने व्यक्तिगत व्रत-उपवास, जप-अनुष्ठान, पूजा-पत्री... आगे पढ़े

नवरात्र का पहला दिन, मां शैलपुत्री की पूजाविधि और महत्व जानें

Updated on 10 October, 2018, 6:20
मां दुर्गा के नौ स्‍वरूपों में सर्वप्रथम हिमालय की कन्या मां शैलुपुत्री की पूजा होती है। आज आश्विन शुक्ल प्रतिपदा है और आज देवी के इसी स्वरूप की पूजा हो रही है। इस दिन कलश स्‍थापना के साथ मां दुर्गा का आह्वान किया जाता है। पुराणों में कलश को भगवान... आगे पढ़े

नवरात्र में इसलिए बोई जाती है जौ, मिलते हैं भविष्य के भी संकेत

Updated on 9 October, 2018, 20:38
हिंदू धर्म के हर त्योहार में कई रीति-रिवाज होते हैं लेकिन अक्सर हमें इनके पीछे का उद्देश्य पता ही नहीं होता है. नवरात्र में कलश के सामने गेहूं व जौ को मिट्टी के पात्र में बोया जाता है और इसका पूजन भी किया जाता है. हममें से अधिकतर लोगों को... आगे पढ़े

नवरात्र 2018 पूजा सामग्री: इनके बिना दुर्गा पूजा अधूरी, ले आएं पूजा के लिए जरूरी सामग्री

Updated on 9 October, 2018, 7:40
शारदीय नवरात्र का शुभारंभ बुधवार यानी 10 अक्‍टूबर से हो रहा है। मात्र एक ही दिन शेष है। उसके बाद अगले 9 दिन तक घर-घर में माता के जयकारे गूंजेंगे। नवरात्र के पहले दिन कलश स्‍थापना होगी। माता का दरबार सजेगा। भक्‍तजन 9 दिनों तक हवन भी करते है। 9 दिनों... आगे पढ़े

नवरात्र 2018: दुर्गा पूजा विधि विधान में रखें वास्तु का ध्यान, ऐसे करें दुर्गा पूजा की तैयारी

Updated on 9 October, 2018, 6:40
नवरात्र में मां के 9 स्‍वरूपों की पूजा सभी घरों में पूरे विधि विधान के साथ की जाती है। माता की पूजा में वास्तु का बड़ा महत्व है। कलश स्थापना से लेकर देवी-देवताओं की प्रतिमा की स्थापना और पूजा की दिशा भी आपकी पूजा के सफल और फलदायी बनाती है... आगे पढ़े

सर्वपितृ अमावस्या: अंतिम दिन ऐसे करें पितरों का श्राद्ध

Updated on 8 October, 2018, 12:52
नई दिल्ली, भाद्र पक्ष की पूर्णिमा से शुरू होकर अश्वनी माह की अमावस्या तक रहने वाले पितृ पक्ष अमावस्या तिथि को समाप्त होते हैं. यह श्राद्ध का 15वां दिन है. इसे सर्वपितृ अमावस्या कहते हैं. जब पितरों की देहावसान तिथि अज्ञात हो तो पितरों की शांति के लिए पितृ विसर्जन अमावस्या... आगे पढ़े

नवरात्र : शक्ति स्वरूपा देवी की आराधना का पर्व

Updated on 8 October, 2018, 11:45
धर्म ग्रंथों के अनुसार नवरात्र माता भगवती की आराधना, संकल्प, साधना और सिद्धि का दिव्य समय है। यह तन-मन को निरोग रखने का सुअवसर भी है।देवी भागवत के अनुसार देवी ही ब्रह्मा,विष्णु एवं महेश के रूप में सृष्टि का सृजन,पालन और संहार करती हैं। भगवान महादेव के कहने पर रक्तबीज शुंभ-निशुंभ,मधु-कैटभ... आगे पढ़े

मां ने दिया यह ताबिज, देखते-देखते बन गया राजा से निर्मोही

Updated on 8 October, 2018, 9:15
राजा ने मदाल्सा से शादी की। शादी से पहले मदाल्सा की शर्त थी कि हर संतान को पैदा होते ही गुरुकुल भेजेंगे। उनके तीन पुत्र हुए और तीनों को गुरुकुल भेज दिया। कुछ समय बाद मदाल्सा के चौथा पुत्र हुआ। इस पर राजा मदाल्सा से बोला: यदि हमने सभी संतानों... आगे पढ़े

नवरात्र 2018: घट स्थापना मुहूर्त और पूजन की विधि जानें

Updated on 8 October, 2018, 6:40
शारदीय नवरात्र का आरंभ हर साल आश्विन शुक्ल प्रतिपदा के दिन होता है। इस वर्ष यह तिथि 10 अक्टूबर को है। शास्त्रों में बताया गया है कि नवरात्र के पहले दिन शुभ मुहूर्त में कलश स्थापित करने के बाद नवग्रहों, पंचदेवता, ग्राम और नगर देवता की पूजा के बाद विधि-विधान... आगे पढ़े

घर के बाहर Name Plate लगवाते समय रखें इन बातों का खास ध्यान

Updated on 8 October, 2018, 6:20
आज कल देखने को मिलता कि लोग अपने घरों के बाहर अलग-अलग तरह की डिज़ाईन के नेम प्लेट्स लगवाते हैं। कहा जाता है कि इससे घर आने वाले हर व्यक्ति पर खास इंप्रेशन पड़ता है और मकान मालिक का स्टाइल स्टेटमेंट झलकता है। वास्तु के अनुसार तो हमारे घर में... आगे पढ़े

जैन परिवार 95 साल से कर रहा हिन्दू मुनीम का श्राद्धकर्म

Updated on 7 October, 2018, 12:15
खिरकिया (सुनीलकुमार जैन, हरदा)। जैन धर्म में श्राद्ध निषेध है इसके बावजूद यहां का जैन परिवार 95 साल से अपने मुनीम स्व. अबीरचंद का श्राद्धकर्म करने की परंपरा निभा रहा है। जैन परिवार के तीसरी पीढ़ी के सदस्य निर्मल जैन और चौथी पीढ़ी के रीतेश जैन बताते हैं कि करीब... आगे पढ़े

नवरात्रि में पहनें ये 9 लकी कलर, खुशियों से भर जाएगी झोली

Updated on 7 October, 2018, 6:40
नवरात्रि में मां के नौ स्वरूपों की अराधना की जाती है। मां के नौ स्वरूपों में नौ रंगों का भी इस्तेमाल किया जाता है, जो प्रकति का संचालन करते हैं। इन नौ रंगों का शास्त्रों में काफी महत्व बताया गया है। कहा जाता है इन दिनों अलग-अलग रंगों के कपड़े... आगे पढ़े

ऑफिस के लिए निकलने से पहले जरूर करें ये 5 काम, कहता है वास्तु

Updated on 7 October, 2018, 6:20
 घर से बाहर जाते वक्‍त माता-पिता के चरण स्‍पर्श करना न भूलें। पुराणों में बताया गया है कि माता-पिता का आशीर्वाद को सर्पोपरि होता है। अगर ऑफिस जाने की जल्‍दी में आपके पास समय की कमी है तो घर के मंदिर में भगवान के सामने सिर झुकाकर सच्‍चे मन से प्रार्थना... आगे पढ़े

सर्वपितृ अमावस्या में जिन पितरों की मृत्यु तिथि नहीं हो पता, उनका करते हैं श्राद्ध

Updated on 6 October, 2018, 7:00
आश्विन माह की कृष्ण अमावस्या को सर्वपितृ श्राद्ध अमावस्या कहते हैं। यह दिन पितृपक्ष का आखिरी दिन होता है। इस दिन किया गया श्राद्ध पितृदोषों से मुक्ति दिलाता है। इस दिन उन सभी पितरों का श्राद्ध या पिंडदान किया जाता है, जिनकी मृत्यु अमावस्या तिथि, पूर्णिमा तिथि और चतुर्दशी तिथि... आगे पढ़े

गयाकोटा: जहां श्रीकृष्ण ने किया था फल्गु नदी को प्रगट

Updated on 6 October, 2018, 6:40
पुण्यसलीला क्षिप्रा के तट पर कई पौराणिक महत्व के पुरातन मंदिर और स्थल मौजूद है, जो ऐतिहासिक दृष्टि से महत्वपूर्ण होने के साथ पूजन-अर्चन के शास्त्रोक्त विधान को भी पूर्ण करते हैं। अवंतिकापुरी में गृहदोष के निवारण से लेकर जिंदगी की परेशानियों का हल निकालने वाले मंदिर स्थित है। उज्जैन... आगे पढ़े

ये है महिलाओं के श्मशान घाट न जाने के पीछे का असल कारण

Updated on 6 October, 2018, 6:20
बहुत से लोग होंगे जो जानते होंगे कि हिंदू धर्म में महिलाओं का अंतिम संस्कार में जाना वर्जित है। धर्म ग्रंथों के अनुसार कुल 16 संस्कारों में से एक अंतिम संस्कार माना जाता है। मृत्यु के बाद इंसान के शव को चिता के हवाले करना ही अंतिम संस्कार कहलाता है।... आगे पढ़े

मौनव्रत की महिमा: खामोशी शब्दों से ज्यादा बोलती है

Updated on 5 October, 2018, 7:00
पंडित श्रीराम शर्मा आचार्य गीता में मानस तप के प्रकरण में  एक सूत्र वाक्य आया है, वह है ‘मौनमात्म विनिग्रहः, भाव संशुद्धिरित्येतत्तपो मानसः उच्यते।’ अर्थात मन को शुद्ध करने के लिए मानसिक तप की आवश्यकता होती है। मानसिक तप का प्रधान अंग मौनव्रत है। नारद ने प. उप. में इसी ब्रह्मनिष्ठा... आगे पढ़े